जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की बड़ी साजिश नाकाम

सुरक्षाबलों के काफिले को उड़ाने के लिए सड़क पर लगाई गई आईईडी को निष्क्रिय किया

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की एक बड़ी साजिश नाकाम हो गई। बारामुला-हंदवाड़ा मार्ग पर सड़क किनारे आईईडी रखी गई थी। आतंकियों की सुरक्षाबलों के काफिले को उड़ाने की साजिश थी। सुरक्षाबलों ने राफियाबाद गांव के पास सड़क किनारे रखी गई आईईडी को बरामद कर उसे निष्क्रिय किया गया। इसके चलते करीब दो घंटे तक सड़क पर यातायात पर भी रोक लगाई गई थी।

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि राफियाबाद गांव के पास लोगों की नजर एक संदिग्ध बैग पर पड़ी। लोगों ने इसकी सूचना सेना को दी। मौके पर पहुंच कर सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी की। वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई। वहीं बम निरोधक दस्ते को मौके पर बुलाया गया। जांच में पता चला कि बैग में आईईडी है। जिसे बम निरोधक दस्ते द्वारा निष्क्रिय कर दिया गया।

मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है। आसपास के इलाकों में सर्च अभियान शुरू कर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक जिस मार्ग पर आईईडी रखा गया था, उस मार्ग पर सेना के साथ ही अन्य सुरक्षाबलों के काफिले भी गुजरते रहते हैं। आतंकियों की साजिश इन वाहनों को ही निशाना बनाने की थी। पुलिस ने बताया कि सुरक्षा बलों की सतर्कता की वजह से बड़े हादसे से बचा जा सका है।

दिसंबर 2021 में भी सेना आतंकियों के कई नापाक इरादों को नाकाम कर चुकी है। लेकिन अभी भी आतंकी घुसपैठ की कोशिशों में लगे हुए हैं। इधर सुरक्षाबल भी अलर्ट मोड में हैं। हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आतंकवाद के बढ़ते खतरे पर चर्चा करने के लिए बैठक बुलाई थी। जिसमें सेना के खुफिया विभाग, वित्त मामलों की खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों के साथ-साथ सभी केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के प्रमुख मौजूद थे।

Send this to a friend